(१) कैवल्य ज्ञान विज्ञान सत्संग,रामद्वारा जलगांव यह हररोज
सुबह ५.०० बजे से रात १०.०० बजे तक खुला रहता है।
(२) यहा हरदिन पुराने संत अपने समय के अनुसार भजन करते है।
(३) यहा नये आये हुये संतोंके साथ ज्ञान-चर्चा की जाती है,और
भजनकी विधी,तथा आचारसंहिता समझायी जाती है।
(४)यहा हर इतवार के दिन शाम को ६.०० से ८.३० तक
सतगुरू सुखरामजी महाराज की बाणीजी पर सत्संग लिया जाता है।
(५)यहा हर माह कें आखरी शनिवार के दिन सुबह ५.०० से रात १०.०० तक अखंड
भजनका भी आयोजन किया जाता है।
(६)यहा कुछ इच्छुक पुराने संतोंको नये संतोको ज्ञानचर्चा करनेका भी
अध्ययन दिया जाता है।
(७)यहाके कही पुराने संतोंके घर एक दिनका अखंड भजन/पद गायन का
सत्संग आयोजित किया जाता है।
(८)यहा के रामद्वाराने महाराष्ट्र मे कही जगह छोटे रामद्वारा संचलीत किये है,और
इन सबको मार्गदर्शित किया जाता है।
(९) बाहरसे कही जगहसे आनेवाले नये संतोंको ज्ञान दिया जाता है।
(१०) बाहरसे कही जगहसे पुराने संतोंसे फ़ोनद्वारा पुछे गये प्रश्नोंका खुलासा किया जाता है।
(११) आदि सतगुरू सुखरामजी महाराजजीके देह के जन्मदिन और परम मोक्ष दिन के अवसरपर हरसाल सतसंग, भजन,ज्ञानचर्चा और महाप्रसाद का आयोजन किया जाता है।

॥रामराम सा॥

Close Menu